National Recruitment Agency ( NRA ) | नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी : सीईटी की पूरी जानकारी यहाँ से

0
National Recruitment Agency

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने National Recruitment Agency ( NRA ) के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। नेशनल रिक्रूटमेन्ट एजेंसी (NRA) केंद्र सरकार की नौकरियों के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) आयोजित कराएगी। CET के माध्यम से देश में आयोजित होने वाली विभिन्न परीक्षाओं में शामिल होने वाले उम्मीदवार को अलग-अलग परीक्षाओं में शामिल होने की आवश्यकता नहीं होगी जिससे उनके टाइम और पैसे दोनों की बचत होगी।

अभी देश में विभिन्न परीक्षाओं का आयोजन भिन्न-भिन्न एग्जाम कंडक्टिंग एजेंसी जैसे-यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC), स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (SSC), रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (RRB), इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सोनेल सिलेक्शन  (IBPS) आदि के द्वारा किया जाता है इसी कारण उम्मीदवार को इनकी सभी परीक्षाओं में शामिल होना पड़ता है लेकिन नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के द्वारा उम्मीदवार को उनकी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट में शामिल होना होगा। NRA क्या है ?, किसके लिए है ?, एग्जाम कैसे होगा ? इन सारी बातों की जानकारी हम आपको अपने इस पेज के माध्यम के देंगे। National Recruitment Agency के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आर्टिकल को पूरा पढ़े।

National Recruitment Agency (NRA)

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन का प्रस्ताव भारत के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 1 FEB 2020 को पेश किये गए केंद्रीय बजट में रखा गया था। उनके अनुसार नॉन गैज़ेट जॉब और सरकारी बैंकों में भर्ती के एक कॉमन एग्जाम कराये जाने का प्रस्ताव रखा। इस कॉमन एग्जाम को कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (CET) नाम दिया गया।

NRA का मुख्य उद्देश्य देश में आयोजित होने वाली विभिन्न परीक्षाओं के स्थान पर एक कॉमन परीक्षा आयोजित कराना है। कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट तीन एजेंसीज एसएससी, आरआरबी और आईबीपीएस के माध्यम के कराये जायगे। नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी गठित होने के बाद से उम्मीदवार को अलग अलग परीक्षाओं में शामिल होने के लिए अलग अलग नहीं जाना होगा। जिससे उम्मीदवारो को आवेदन पत्र के लिए बार बार दिए जाने वाले परीक्षा शुल्क से छुटकारा मिल जायेगा साथ ही साथ समय की बचत भी होगी।

National  Recruitment Agency (NRA) के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • NRA CET का आयोजन वर्ष में दो बार होगा।
  • Common Eligibility Test  का आयोजन तीन चरण में किया जायेगा।
  • सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन SSC, RRB, IBPS के द्वारा किया जायेगा।
  • CET एक मल्टीपल चॉइस कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी।
  • एनआरए सीईटी स्कोर तीन वर्ष के लिए मान्य रहेगा।
  • सीईटी के लिए प्रत्येक जिले में कम से कम एक सेंटर अवश्य होगा।
  • NRA Common Eligibility Test में शामिल होने की कोई सीमा नहीं है।
  • CET के लिए आयु सीमा में छूट आरक्षण के अनुसार (SC/ST/OBC/PwD etc) मिलेगी।
  • कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट का आयोजन 12 भारतीय भाषाओ में किया जायेगा।

National Recruitment Agency (NRA) के बारे में विस्तृत जानकारी

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के द्वारा भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता आएगी और भर्ती प्रक्रिया में लगने वाले समय में भी कमी आयेगी क्योकि एक की शैक्षणिक योग्यता वाले पदों पर भर्ती के लिए अलग अलग होने वाले परीक्षा से बचा जा सकेगा और कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट के एक ही एग्जाम के द्वारा रिक्त पदों पर भर्ती की जा सकेगी।

सरकार ने NRA की स्थापना के लिए 1,517.57 करोड़ की राशि मंजूर की है, जिसका मुख्यालय दिल्ली में होगा। मल्टी-एजेंसी निकाय ग्रुप बी और सी (गैर-तकनीकी) पदों के लिए उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग या शॉर्टलिस्ट करने के लिए एक कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) आयोजित करेगा। National Recruitment Agency में रेल मंत्रालय, वित्त मंत्रालय / वित्तीय सेवा विभाग, SSC, RRB और IBPS के प्रतिनिधि होंगे। यह कल्पना की जाती है कि एनआरए एक अत्याधुनिक संस्था होगी जो केंद्र सरकार की भर्ती के क्षेत्र में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी और सर्वोत्तम प्रथाओं को लाएगी।

NRA उन सभी गैर-तकनीकी पदों के टायर-1 लिए ग्रेजुएट, उच्च माध्यमिक (12 वीं पास) और मैट्रिकुलेट (10 वीं पास) उम्मीदवारों के तीन स्तर के लिए एक अलग अलग सीईटी आयोजित करेगा। जिसमें वर्तमान में स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (SSC), रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) और इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सोनेल सिलेक्शन (IBPS) द्वारा भर्ती की जाती है।

कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट में शामिल होने के वर्ष में दो मौके दिए जायेगे। जिसके अनुसार आप के पास अच्छे अंक प्राप्त करने के वर्ष में दो मौके होंगे। दोनों परीक्षा में जो भी अच्छे अंक होंगे वही आपका मान्य स्कोर होगा। जैसे-आपके पहली बार की परीक्षा में 90 अंक आये और दूसरी बार की परीक्षा में 95 अंक आये इसके अनुसार आपका मान्य स्कोर 95 होगा जोकि तीन वर्ष तक के लिए आरक्षित रहेगा साथ ही साथ तीन वर्ष के दौरान जो भी अच्छे अंक होंगे वही आपका मौजूदा मान्य स्कोर होगा। Common Eligibility Test में शामिल होने की कोई सीमा नहीं होगी। यह स्कोर केंद्र सरकार, राज्य सरकार, केंद्र शासित प्रदेश, पब्लिक सेक्टर यूनिट, प्राइवेट सेक्टर के साथ साझा किया जायेगा। कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट स्कोर के आधार पर ही अंतिम सिलेक्शन के लिए टायर-2 / टायर-3 एग्जाम उत्तरदायी एजेंसी के द्वारा कराये जायेगे।

CET के आयोजन के लिए National Recruitment Agency ने देशभर में 1000 परीक्षा केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया है। उम्मीदवारो की सुविधा को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक जिले में कम से कम एक परीक्षा केंद्र जरूर बनाया जायेगा। जिससे उम्मीदवार अपनी इच्छानुसार एग्जाम सेंटर का चयन कर सकते है।

सरकारी नौकरी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें